कौन था औरंगज़ेब?

क्या कोई शातिर राज्यकर्ता? कोई सफल शासक? या एक धर्मांध जुल्मी क्रूरकर्मा बादशाह?
जिसने अपने ज़िदके कारण पुरे मुगलिया सल्तनत को दावपे लगाया और उसके पतन के लिए कारण बना | ये है बादशाह औरंगज़ेब की कहानी!

फ्राम की कहानी : १७२० – मराठों का नाविक विजय

अंग्रेजों ने विजयदुर्ग को जीतने की पूरी कोशिश की। समुद्र की लहरों पर मानो एक किला खडा कर दिया – फ्राम: तैरता हुआ तोपखाना।
यह फ्राम और विजयदुर्ग की कहानी है। वीर कान्होजी आंग्रे के शौर्य की कहानी ! फ्राम की कहानी : १७२० – मराठों का नाविक विजय.

%d bloggers like this: